Sunday, October 2, 2022
Homeकहानियाँ

कहानियाँ

जामुन का पेड़ | प्रशासनिक कार्यशैली और आम आदमी

'जामुन का पेड़' ये कहानी व्यंग्यात्मक रूप से आम आदमी के प्रति प्रशानिक अधिकारियों की अकर्णमन्यता को सही अर्थों में दर्शाती है। ये दिखाती है कि किस प्रकार प्रशानिक अधिकारी कुछ मिनट में होने वाले कार्य को दिनों/महीनों तक...

Yes I am lonely | हाँ, अब मैं अकेला हूँ !!

Yes I am lonely !! तीन दोस्तों की एक ऐसी कहानी जहाँ एक दूसरे के लिए अपनी जान तक देने को तैयार रहने वाले मित्र सांप्रदायिकता और अलगाववाद के ऐसे शिकार होते हैं, कि अंत में उन्हें कहना पड़ता...

स्नेह के आँसू | Tears of Affection

"स्नेह के आँसू"  किसी की आँखों में यूं ही नहीं आते, ना कोई अपनी जानकार अपनी आँखों में स्नेह के आँसू यानि Tears of Affection ला सकता है। इस कोरोना महामारी में ये स्नेह के आँसू  अचानक ही अपनेपन...

महान सेनानायक हरिसिंह “नलवा”

महान सेनानायक हरिसिंह "नलवा", महाराजा रणजीत सिंह के सेनापति थे। उनका जन्म 28 अप्रेल1791 को गूजरावाला (पंजाब) के, एक क्षत्रिय सिख परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम गुरदयाल उप्पल एवं माँ का नाम धर्मा कौर था। बचपन में...

हमसे जुड़ें

Latest News

ब्लफ-बुक : अनसंग हीरोज | Unsung Heroes Indu se Sindhu tak

तो शुरू करते हैं, बिना किसी भूमिका के, कुछ ऐसे कि मानो ये 'अनसंग हीरोज - इन्दु से सिंदू...